ये सब प्राइवेट बैंक ने दिया ग्राहकों को झटका
Latest News Trending Trending News

ये सब प्राइवेट बैंक ने दिया ग्राहकों को झटका, जानिए आप कितनी भरनी पड़ेगी EMI

ये सब प्राइवेट बैंक ने दिया ग्राहकों को झटका, जानिए आप कितनी भरनी पड़ेगी EMI

बढ़ती महंगाई को कंट्रोल करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने एक बार फिर से रेपो रेट में बढ़ोतरी का फैसला किया था जिसका सीधा असर आम आदमी लोगों के जीवन पर पड़ा है। इसके अलावा कई बड़े बैंकों ने भी अपने लोन की ब्याज दरों में इजाफा किया है।

ये सब प्राइवेट बैंक ने दिया ग्राहकों को झटका

देश में महंगाई को कंट्रोल करने के लिए केंद्रीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India) ने लगातार तीसरी बार अगस्त में रेपो रेट (RBI REPO RATE) मैं बढ़ोतरी का फैसला किया था। इस फैसले का सीधा असर आम आदमी के जीवन पर पड़ा है कई बैंक ने अपने लोन ब्याज के दरों में बढ़ोतरी की।

अब इस लिस्ट में देश के बड़े प्राइवेट सेक्टर के बैंक आईसीआईसी बैंक
(ICIC BANK) का नाम भी जुड़ गया है। आईसीआईसी बैंक ने अपने ओरिजिनल कॉस्ट ऑफ लेडिंग रेस्ट (Marginal Cost Lending Rate) में बढ़ोतरी का फैसला किया हैं। यह बड़ी हुई MCLR कल से यानी 1 सितंबर 2022 से लागू हो चुकी है।

ये सब प्राइवेट बैंक ने दिया ग्राहकों को झटका

आईसीआईसीआई बैंक ने आपने मोरिजिनल कॉस्ट ऑफ लेडीज रेस में पूरे 10 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की है। यह बढ़ोतरी सभी अवधि के लोन पर लागू होगी। ध्यान देने वाली बात यह है कि इजाफा भारतीय रिजर्व बैंक
(RBI) ने 5 अगस्त को हुई अपनी समीक्षा बैठक के अपने रेपो रेट में बढ़ोतरी का फैसला किया था।

ये भी पढ़े :- सोना चांदी के दामो में भारी गिरावट आई

यह बढ़ोतरी 0.50% की थी। फिलहाल रेपो रेट 5.40%हैं। पिछले तीन बार से रेपो रेट में बढ़ोतरी के फैसले के बाद रेपो रेट में कुल 1.40% की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इस बढ़ोतरी के बाद से ही लगातार सही बैंकों ने अपने लोन और डिपॉजिट रेस्ट जैसे फिक्सड डिपॉजिट रेस्ट (FD Rates), आरडी (RD) और सेविंग रेस्ट (Saving Account Rates)
मैं बढ़ोतरी कर रहे हैं। इसका सीधा असर ग्राहकों पर पड़ रहा है। जहां उन्हें एफबी पर ज्यादा रिटर्न मिल रहा है वही उन पर EMI का बोझ भी बढ़ रहा है।

ICIC ने अलग-अलग अवधि पर बढ़ाई इतनी ब्याज।

MCLR रेट में बढ़ोतरी के फैसले के बाद से होम लोन ,कार लोन, बिजनेस लोन ,पर्सनल लोन आदि सभी तरह के लोन पर ईएमआई बढ़ाने वाली है। बैंक का ओवरनाइट लोन पर ब्याज दर 7.55% से बढ़कर 7.65% हो गया है। वही 1 महीने की अवधि का MCLR 7.65% से बढ़कर 7.75% हो गया है। वहीं 3 महीने का 7.70% से बढ़कर 7.80%, 6 महीने का 7.95% और 1 साल का MCLR 7.90% से बढ़कर 8.00% हो गया है

ये सब प्राइवेट बैंक ने दिया ग्राहकों को झटका

(PNB) पीएनबी ने भी बढ़ाया MCLR-

वहीं देश के दूसरे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) मैं अपने मोरिजिनल कॉस्ट ऑफ लोडिंग रेस्ट (Marginal Cost Of Lending Rates) मैं बढ़ोतरी करने का फैसला किया है। इससे ग्राहकों पर लोन की इएमआई (EMI) का बोझ बढ़ने वाला है। 1सितंबर 2022 दिन गुरुवार से लागू हो चुकी है।

बैंक के शेयर बाजार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि MCLR रेट में करीब 0.05% की बढ़ोतरी का फैसला किया है। 1 साल का MCLR रेट में 5 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की गई है और यह 7.65% से बढ़कर 7.70% तक पहुंच गया है।

और भी इसी तरह की जानकारी के लिए जुड़े हमारी ग्रुप से-

Whatsapp  Click 
Telegram  Click