Electric Trending News Vichle

OLA स्कूटर में आग लगने की घटनाओं में वृद्धि के बीच 1,400 से अधिक इलेक्ट्रिक स्कूटर वापस बुलाएगी । ओला कंपनी ।

OLA स्कूटर में आग लगने की घटनाओं में वृद्धि के बीच 1,400 से अधिक इलेक्ट्रिक स्कूटर वापस बुलाएगी । ओला कंपनी ।

देश में विभिन्न विभिन्न स्थानों पर ओला स्कूटी में आग लगने के कारण मजबूरन स्कूटर को अपने पास बुलाना पड़ रहा है । यह मामला धीरे-धीरे तेजी से और बढ़ता ही जा रहा है ऐसे मामलों में ओला कंपनी अपनी गाड़ियों को वापस मंगवा रही है ।

देश के कई जगहों पर ओला स्कूटर में लगी आग

कंपनी के अनुसार वाहनों में लगी आग को मध्य नजर रखते हुए 1441 बोला दो पहिया गाड़ी को वापस अपने पास बुला रही है 26 मार्च को हुई पुणे की घटना को जांच पूरी तरीके से हो रही है जांच में पता चल रहा है कि यह एक अलग ही घटना थी ।

Jio free 2GB data

हालांकि, इसने कहा, “एक पूर्व-खाली उपाय के रूप में हम उस विशिष्ट बैच में स्कूटरों का विस्तृत निदान और स्वास्थ्य जांच करेंगे और इसलिए 1,441 वाहनों की स्वैच्छिक वापसी जारी कर रहे हैं।”

OLA स्कूटर में आग

देश में कई हिस्सों में ओला स्कूटर में आग लगी ।

हाल ही में, देश के विभिन्न हिस्सों में इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों में आग लगने की व्यापक घटनाएं हुई हैं, जिससे निर्माताओं को अपने वाहनों को वापस बुलाने के लिए मजबूर होना पड़ा है।

OLA का क्या कहना है ।

ओला इलेक्ट्रिक ने आगे कहा, “इन स्कूटरों का हमारे सेवा इंजीनियरों द्वारा निरीक्षण किया जाएगा और सभी बैटरी सिस्टम, थर्मल सिस्टम के साथ-साथ सुरक्षा प्रणालियों में पूरी तरह से निदान के माध्यम से जाना जाएगा।” ओला इलेक्ट्रिक ने कहा कि उसके बैटरी सिस्टम पहले से ही अनुपालन करते हैं और यूरोपीय मानक ईसीई 136 के अनुरूप होने के अलावा, भारत के लिए नवीनतम प्रस्तावित मानक एआईएस 156 के लिए परीक्षण किया गया है भारत में अलग-अलग जगहों पर ओला स्कूटर में लगने आग लगने का कारण को पता लगाया जाएगा इसके लिए सभी गाड़ियों को वापिस अपने पास मंगवा रही है । OLA स्कूटर में आग

कंपनी का कहना है कि गाड़ी को ग्राहकों को देने से पहले पूरी तरह से जांच करने के बाद में दिया जाता है गाड़ियों में आग लगने की वजह कुछ और ही बताई जा रही है ।

आग लगने की घटना कई बार हो चुकी है।

ओला के जैसे अन्य जगह पर भी इस तरीके के मामला हो चुका है जैसे ओकिनावा ऑटोटेक ने 3,000 से अधिक इकाइयों को वापस बुलाया था, जबकि प्योरईवी ने लगभग 2,000 इकाइयों के लिए इसी तरह का अभ्यास किया था।

आग लगने की घटना पर सरकार का क्या कहना है ।

आग की घटनाओं ने सरकार को जांच के लिए एक पैनल बनाने के लिए प्रेरित किया और कंपनियों को लापरवाही बरतने पर दंड की चेतावनी दी थी। सरकार नहीं चाहती कि दैनिक जीवन में खरीदने वाली इलेक्ट्रिक गाड़ियों से किसी के जान जोखिम हो इसके लिए इसके जांच को पड़ताल करने को कहा गया है और कंपनियों को भी चेतावनी दिया गया है| 

Join Telegram

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.